“सफर ज़िन्दगी का” ऐसी कहानियों का संग्रह है जिसमें नारी के संघर्ष को दर्शाया गया है, जो गुरकर भी समाज में अपने आप को संभालती हैं, अर्थात एक नारी जिसे समाज में असहाय समजा जाता है लेकिन अब समय आया है जब नारी किसी भी स्तिथि का सामना करके अपनी ज़िन्दगी का सफर पूरा करती है ।
प्रस्तुत कहानियों में मेरे लिखने का उद्देश्य यह है की एक नारी को कभी भी अपनी ज़िन्दगी से निराश नहीं होना चाहिए और आगे बढ़ने का सहस दिखाना चाहिए ।
पलायन के पश्चात् अपनी स्वर्ग सामान मातृभूमि, कश्मीर छोड़कर मैंने कुछ प्राकृतिक सौंदर्य पर कुछ कवितायेँ भी लिखीं जिन में मैंने उन खेत खलियानो, बाग़ बगीचों का वर्णन किया है जो मुझे बार बार याद आते थे । इस प्रकार मैंने अपनी ज़िन्दगी का सफर आरम्भ किया ।

किताब के बारे में:

यह पुस्तक कहानियों व् कविताओं का संग्रह है जिसमें लेखिका ने नारी के साहसी रूप को दर्शाया है । इन कविताओं व् कहानियों में आपको इस्री के एक सशक्त रूप के बारे में पढ़ने को मिलेगा जो ज्यादातर ये समाज नज़रअंदाज कर जाता है ।

लिखावट और वर्णन:

लेखिका ने बहोत ही अच्छे ढंग से हर कहानी को दर्शाया है । छोटे से शब्दों में हर एक पात्र की खूबियों को आहार लेकर आयी हैं, जो की सराहनीये है ।

पुस्तक आवरण एवं शीर्षक:

पुस्तक आवरण व् शीर्षक दोनों ही किताब से मेल खाते हैं । जिस तरह नारी का सफर कभी खत्म नहीं होता, उसी चीज़ को ध्यान में रखकर ये शीर्षक रखा गया है जो की बहोत अच्छा है ।

पेशेवर:

  • शब्दों का सही प्रयोग
  • सरल भाषा
  • कहानियों में नारी का सशक्त रूप दीखता है

विपक्ष:

लिखावट में कुछ और परिवर्तन आने से अच्छा हो सकता था

मेरा फैसला:

कहीं न कहीं, इतना सब कुछ होने के बाद भी, समाज आज भी नारी को वो इज्जत नहीं दे पाता जो उसे मिलनी चाहिए । ऐसी अवस्था में नारी को निचा समझा जाता है जबकि वह बहोत ही ज्यादा हिम्मतवाली है । इस पुस्तक में आपको बहोत सी ऐसी कहानियां पढ़ने को मिलेंगी जो नारी को एक सक्षम रूप में दर्शाती हैं । जो मुझे अच्छी लगी वह हैं – अपनी बात, जोगन, बलिदान, भरोसा, व् आंतकवाद ।

रेटिंग्स: 4/5

खरीदिये – सफर ज़िन्दगी का

In Conversation with Rajkumari Rajdan

Advertisements