प्याला जो कश्मकश का पी लेता हूँ

अब जिक्र यह था

अब चुनाव यह था

एक और कश्मकश का प्याला

या एक यादों का प्याला…

किताब के बारे में:

इस पुस्तक में आपको 47 अलग अलग प्रकार की कवितायेँ मिलेंगी जिसे कवी ने बहोत ही मनभावक ढांड से प्रस्तुत किया है । भावनाओं को जिस तरह कवी ने शब्दों में पिरोया है, वह काफी सराहनीये है ।

लिखावट और वर्णन:

अतिन तिवारी की लिखावट मन को छू जाने वाली है । हर एक शब्द बहोत ही सही तरीके से सही जगह पे प्रस्तुत किया गया है । और जिस तरह उन्होंने कविताओं को पेश किया है, वह काफी लाजवाब है ।

पुस्तक आवरण एवं शीर्षक:

मुझे इस पुस्तक का आवरण एवं शीर्षक दोनों ही काफी पसंद आये ।

पेशेवर:

  • मन को छू जाने वाली कवितायेँ
  • मनमोहक शब्दों का चयन
  • सरल भाषा

विपक्ष:

मुझे कुछ भी इस पुस्तक में बुरा नहीं लगा ।

मेरा फैसला:

जब आप एक कविता संग्रह पढ़ते हैं तो आपकी उम्मीद कवी से कुछ ज्यादा ही होती है । वही चीज़ मेरे साथ भी है । लेकिन इस पुस्तक को पढ़ने के बाद कुछ ऐसा नहीं लगा की इस में कोई कमी होगी । कवी ने बेहद ही अच्छे तरीके से भावनाएं प्रकट की हैं । तो आप भी एक बार जरूर पढ़िए इसे ।

रेटिंग्स: 3/5

In Conversation with Atin Tiwari

 

 

 

 

Advertisements